Wednesday, 1 June 2016

चलो लड़की पटाये.....


चलो लड़की पटाये.....
खाली बैठे बैठे क्यों टाइम गलाए
बेकार में क्यों अपनी जवानी जलाये
कहीं  किसी माल के कोने में सिग्रेट के धुएं उडाये
नए नए फैशन के लडकियों को करतब दिखाए
कैसे रहते है टीप टॉप यह सबको बताये
विह्स्की ना मिले तो तो बीयर  से ही काम चलाये
चलो लड़की पटाये ....

माल में खाली इधर उधर फिरते जाए
कोई क्यूटी दिखे तो धीरे से सीटी  बजाये
जींस को अपनी थोड़ी और नीचे  गिराए
ब्रांडेड कपड़ो और जूतों को ज़रा  जोर से चमकाए
टोटा लड़की ना मिले तो आंटी से काम चलाये
चलो लड़की पटाये ...

(पीछे बैकग्राउंड में ....माँ मेरी बोलती , गुस्से को यूँ तोलती , देख बेटा यूँ ना समय गवाओ , पढ़ लिख लो , अरे कुछ तो बन जाओ , मै उसको  बोलता , अरे माँ मेरा बाप है दौलत तोलता , चले उसे उडाये , कुछ मजे तुझे  भी कराये .... ).......

कॉलेज में रोज नए नए धमाल मचाये
कभी इसको हंसाये तो कभी उसको रुलाये
किताबों  के चक्कर में पड़कर क्यों चश्मा चढ़वाएं
साइंस, मैथ के चक्कर में क्यों भेजा खपाएं
कैंटीन में बैठकर कुछ गप्पे लड़ाएं
अरे कॉफ़ी ना मिले तो चाय से ही काम चलाये
चलो लड़की पटाये ....

(पीछे बैकग्राउंड में ....मास्टर मुझे  टोकता , क्लास में आने से रोकता , तू है लड़का सबसे अजीब , जिसने कभी नहीं सीखी तमीज , तू कॉलेज में आकर सबका टाइम क्यों खोटा करता , तेरे बाप तो मोटा माल है जोड़ता , तेर हाथ मैं जोडू , तू छोड़ दे कॉलेज , बाहर  जाकर आवारागर्दी करले , कुछ ना मिले तो  किसी से आशिकी ही कर ले ... ...).....

यार दोस्तों के साथ सिनेमा जाएं
मस्त लडकियों के पास सीट का जुगाड़ भिडाएं
कभी पॉपकॉर्न तो कभी कोल्ड ड्रिंक लाये
बीच मूवी के आते जाते उनसे टकराएं
मूवी में जोर जोर से  सिटी बजाये
फिर भी लड़की ना पटे तो उन्हें देख कर ही  मुस्कराएं मुस्कुराये
मूवी  के बाद फिर से नया जुगाड़ भिडाये
चलो लड़की पटाये ....

(पीछे बैकग्राउंड में ....बाप मेरा टोकता , अरे नालायक तू कब है किताब खोलता , जरा अपने नंबर तो बता , कब गया था क्लास जरा मुझे भी बता , तेरा मास्टर मिला , उसका दिल था जला , मुझसे यूँ बोला , क्या कभी इसके कान तो पकड़ो , हो सकते तो कुछ पढने लिखने को बोलो बोलो ... ) .....

बाइक से रोज किसी माल की गली के चक्कर लगाये
कभी सलमान तो कभी आमिर बन जाएं
उसकी गली में हल्ला गुल्ला मचाये
शक्ल अच्छी ना हो तो क्या फिर भी पूरा ऐटिटूड दिखाएं
चलो लड़की पटाये ....

रोज डिस्को में नाचे और गाये
कभी इसको तो कभी उसको नचाये
रोज नयी चिकनी चमेली से आँखे लड़ाएं
खाने में हम तो पिज़्ज़ा या बर्गर ही खाएं
साथ में इक दारु का शॉट भी लगाये
पहली फुर्सत में हम तो
चलो लड़की पटाये ....
चलो लड़की पटाये ....

By
Kapil Kumar
Post a Comment